कैल्शियम की कमी है आपके बेबी में तो जानिए यह बाते। - HealthUpachar

कैल्शियम की कमी है आपके बेबी में तो जानिए यह बाते।

बच्चो के  संपूर्ण विकास के लिएउनके शरीर मे सभी पोषक तत्वों कि मात्रा सही से होना जरूरी है ।  किसी एक कि कमी से बच्चो में बदलाव के लक्षण दिखाई देते है ।इसीमे से एक है कैल्शियम की कमी ।बच्चों में हड्डियों और दांतो के विकासके लिए 99%जरूरत कैल्शियम की होती है ।कैल्शियम की कमी से इनमे कई समस्या या आ सकती है ।जैसे कि हड्डियों का टेड़ा होना दांत कमजोर होना आदि ।इसीके साथ साथ कैल्शियम बच्चो की नर्व्स, दिल और पूरे शरीर को स्वस्थ रखने का काम करती है ।

कैल्शियम की कमी से बच्चो के शरीर मे कमजोरी भी आ सकती है ।इसलिए बच्चो में कैल्शियम की मात्रा बढ़ाने के लिए हम कुछ घरेलू उपाय देखेंगे । इसीके साथ उसकी कमी के लक्षण और कारण पर भी गौर करेंगे।

कैल्शियम की कमी

कैल्शियम कमी के लक्षण :

  • हड्डियों और मांसपेशिओ में दर्द ।
  • हार्ट रेट्स में कमी या धीमी होना ।
  • हड्डिया कमजोर होना ।
  • रात को नींद में सिर पर पसीना आना ।
  • दाँत देरी से निकलना ।
  • नाखून कमजोर होना ।जल्दी टूटना ।
  • दिमाग मे आक्सिजन का कम पहोचाना।
  • Immunity power कम होना ।

कैल्शियम कमी के कारण :

  • गर्भावस्था के दौरान मां में कैल्शियम की कमी।
  • जन्म लेते समय ऑक्सीजन की कमी के कारण।
  • गर्भावस्था में मां को मधुमेह होने से बच्चो में कैल्शियम की कमी पाई जाती है ।
  • विटामिन D की कमी से जो कैल्शियम बनाने में अहम भूमिका निभाता है ।
  • मां का दूध न पीने से ।

कैल्शियम की कमी पर घरेलू नुस्खे :

कैल्शियम की कमी

 

स्तनपान : स्तनपान करवाए इससे कैल्शियम की कमी भरकर निकलती है । माँ के दूध में वह सभी गुण होते है जो बच्चों को strong बनाते है।

 ऊपरी दूध से परहेज : गाय का दूध या फार्मूला दूध से बच्चो को 1 साल तक दूर रखें । गाय का दूध भले ही अच्छा हो पर उसमे मौजूद फोस्फरस की अधिक मात्रा से कैल्शियम नही बढ़ पाता ।

कैल्शियम की कमियां

दूध : दूध कैल्शियम का मुख्य स्रोत माना जाता है ।पर इसका उपयोग 1 साल के ऊपर के बच्चों में कैल्शियम बढ़ाने के लिए उपयुक्त है ।इसलिए बच्चों को रोजाना दूध पिलाए । 1 ग्लॉस दूध में करीबन 240 मि ग्रा कैल्शियम होता है ।

कैल्शियम की कमी

केला : बच्चो में वजन बढ़ाने के साथ शरीर मे कैल्शियम की मात्रा को भी बढ़ाने में मददगार है ।और यह हर मौसम में मिलता है इसकारण इसका सेवन आसानी से किया जा सकता है। 1 केले में करीबन 6 मिग्रा कैल्शियम होता है ।

कैल्शियम की कमी

दही : बच्चो को रोजाना दही पिलाने से कैल्शियम की बढ़ोतरी में मदद होती है ।दही प्रोबियोटिक भी है तथा यह पेट के आंतो का कार्य सही से करने में मदद करता है इसलिए रोजाना घर का लगाया दही बच्चो को खिलाएं।

कैल्शियम की कमी

विटामिन D : सुबह की धूप में बच्चों को बिठाये तथा उनके शरीर का 40 प्रतिशत हिस्सा धूप में आने दे । विटामिन डी मिलने का धूप एक मात्र स्रोत है और विटामिन डी शरीर मे कैल्शियम बढ़ाने के लिए अधिक उपयुक्त है । सिर्फ़ धूप से भी शरीर मे कैल्शियम की मात्रा बढ़ सकती है।

कैल्शियम की कमी

सोयाबीन : सोयाबीन में  कैल्शियम  प्रचुर मात्रा मे होता है इसके सेवन से कैल्शियम को बढ़ाया जा सकता है ।

धन्यवाद, यह post अच्छा लगा हो तथा आपके लिए फायदेमंद हो तो इसको share जरूर करे आपका शेयर हमारे लिए कीमती है ।तथा इससे रिलेटेड अधिक जानकारी के लिए हमे [email protected] पर सम्पर्क करें

Image source : free stock photo

 

 

 

 

 

Share

error: Content is protected !!