बुखार का रामबाण उपाय। fever

बच्चो मे बुखार

बच्चो के बुखार का इलाज :-अक्सर आप देखते होंगे की मौसम बदलने पर संक्रमन की बीमारीयाँ अपना सिर उपर निकालने लगती है । ऐसा बारीश मे जादातर दिखाई देता है। प्रदुषण दिन ब दिन बढता जा रहा है , जादातर बारीश के मौसम मे दिनो मे गंदगी अपनी चरनसीमा पर होती है।ऐसे मे बच्चो के बुखार का इलाज कैसे करे और बच्चो के बुखार को कैसे रोका जाय ये एक आम समस्या है। कुछ आसान घरेलु नुस्खे आजमा कर बच्चो के बुखार का इलाज किया जा सकता है। आइए तो देखते है बुखार के लक्षण , कारण और उनपर घरेलु उपाय ।

बुखार का

बच्चो मे बुखार के लक्षण :

  • बच्चो का पुरा शरीर गरम होता है ।
  • आँखे लाल होती है कभीकभी आँखो मे से थोडा पाणी निकलता है।
  • सुस्त हो जाते है। जादातर लेटना पसंद करते है।
  • थका हुआ महसुस करते है या थके हुए लगते है।
  • मुहँ सुखने लगता है, जादा प्यास लगती है।
  • भुख नही लगती। खाना खाने को नही बोलते।
  • खाने मे कडवेपन का अहसास होता है।
  • सिर मे दद॔ होता है।
  • उलटी  ( vomiting)होती है ।

बच्चो मे बुखार के कारण : 

  • जादातर संक्रमण से बुखार आता है।
  • डर के कारण।
  • ठंडे पाणी मे जादा देर तक रहने/ खेलने के कारण।
  • बारिश मे भिगने से ।
  • गिले बीस्तर पर जादा देर सोने से।( सु – सु करके बीस्तर  गिला होता है और कपडे भी)।
  • दात निकलने पर।

बच्चो के बुखार का इलाज :

  • बच्चो को बुखार आने पर साफ ,सुती और थोडे सैल या ढिले कपडे पहनाये इससे उन्हे अच्छा महसुस होगा।उन्हे बैचैनी नही होगी।
  • जादातर कुनकुना पाणी पिलाए और जादा पाणी पिलाए।कुनकुना पाणी पिलाने से उनके शरीर का तापमान mentain रहेगा। और सर्दी खाँसी हो तो गले को राहत मिलेगी।
  • जादा ठंडी चीजे ना खिलाए और ठंडा पाणी avoid करे।
  • कुनकुना सुप पिलाए , जादातर तरल चीजे खाने मे दे,जो पचने मे आसान हो। मौसमी का रस पिलाए , फलो का ज्युस पिलाए, फल खाने मे दे , नारियल पाणी दे। हो सके तो ज्वार के लाही का चिवडो बनाकर खिलाए।
  • अगर बच्चा 6 माह का हो तो उसे माँ का दुध पिलाए।इससे इम्युनिटी पावर बढती भी  है।उसकी साफ सफाई पर ध्यान रखे, संक्रमण हुए वाले लोगो से उसे दुर रखे। उसे छुते वक्त हात अच्छेसे साफ करे ।
  • साधे पाणी मे नॅपकिन भीगोकर बच्चो के बदन की स्पंजींग करे, उनके सिर पर भी साधे पाणी की पट्टीया रखे।इससे बुखार जल्दी उतरेगा। जादा ठंडा पाणी इस्तेमाल ना करे।
  • बच्चो को प्याज का रस निकालर पिलाने से बुखार उतरता है।
  • बाहर जाने न दे , घर मे ही उन्हे लेटने दे।आराम करने दे।
  • पुदिना और अदरक का काढा उन्हे थोडेथोडे देर बाद पिलाए।काढा पिने के बाद बाहरी हवा के संपर्क मे ना आने दे।
  • बच्चो को डाॅक्टर के पास ले जाकर जाँच करवाए।
  • जायफल पीसकर बच्चो के नाक ,छाती और माथे पर लेप लगाने से भी बुखार कम होने मे मदत मिलती है।
  • काले मनुका खिलाए तथा रात मे इसे भिगोकर पाणी पिलाए  इससे भी लाभ होगा।
  • शुशुओ को माँ का दुध पिलाए , इससे इम्युन सिस्टम मजबुत होने मे भी लाभ होता है।
  • हात और पैर के तलवे को जैतुन के तेल से मालिश करे इससे उनकी बैचैनी कम होगी,और उनको आराम भी मिलेगा।
  • 2 -3 काली मिर्च 2-3 तुलसी के पत्तो को पीसकर शहद के साथ मिलाकर दिन मे 3 से 4 इसको चटाये। वैसे तुलसी इम्युन बुस्टर भी है।

कभी-कभी डर के कारण भी बच्चो को बुखार आ जाता है जैसे की किसी डरावनी चीज से, या किसी चेहरे से या कभी-कभी किसी के डाटने से ऐसा हो सकता है , ऐसे मे बच्चो को डर से बाहर निकाने की कोशिश करे , जादातर उनके पास रहे,और डाॅक्टर से कन्सल्ट करे।

धन्यवाद , post अच्छी लगी हो तो comment  करे ।और कुछ डाउट्स हो ओ भी लिख सकते है।

 

" data-link="https://twitter.com/intent/tweet?text=%E0%A4%AC%E0%A5%81%E0%A4%96%E0%A4%BE%E0%A4%B0+%E0%A4%95%E0%A4%BE+%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%AE%E0%A4%AC%E0%A4%BE%E0%A4%A3+%E0%A4%89%E0%A4%AA%E0%A4%BE%E0%A4%AF%E0%A5%A4+fever&url=https%3A%2F%2Fhealthupachar.com%2F%E0%A4%AC%E0%A5%81%E0%A4%96%E0%A4%BE%E0%A4%B0-%E0%A4%95%E0%A4%BE-%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%AE%E0%A4%AC%E0%A4%BE%E0%A4%A3-%E0%A4%89%E0%A4%AA%E0%A4%BE%E0%A4%AF%2F&via=">">Tweet
0 Shares
error: Content is protected !!