बेबी को बोतल से दूध पिलाने के फायदे नुकसान । - HealthUpachar

बेबी को बोतल से दूध पिलाने के फायदे नुकसान ।

कैल्शियम की कमियां

शिशुओको स्तनपान के अलावा 6 माह तक बाहर का कुछभी आहार या पानी नही देना चाहिए । पर कुछ मामलो में यह fail होता है ऐसे में बेबी को ऊपर का दूध या फार्मूला दूध देने की जरूरत आती है । तब बच्चे को बोतल से दूध पिलाना ही पड़ता है क्योंकि इसके अलावा दूसरा option नही होता है ।  इस दुनिया मे हर चीज़ के दो पहलू होते है एक अच्छा और बुरा ऐसे में ही आज हम देखेंगे कि बोतल से दूध पीने के फायदे और नुकसान ,  बोतल से दूध  बच्चो को कितना फायदेमंद है तथा नुकसानदेह है आइए तो जाने इस सबके बारे में ।

शिशु को बोतल से दूध पिलाने के फायदे नुकसान :

फायदे :

बोतल का दूध बच्चो को मोटा बनाता है क्योंकि बच्चो को सही  मात्रा में   सही टाइम पे बिना ज्यादा कसरत के दूध मिलता है । स्तनपान के लिए बच्चो को कसरत करनी पड़ती है इससे उनमे एनर्जी खारिज नही होती तथा वह जल्द मोटे होते है ।

माँ को ऑफिस या another activity करने के लिए free time मिलता है ।मां के अलावा दूसरे भी कोई बच्चे को समय पे दूध पिला सकता है ।माँ को बांधे रहने की आवश्यकता नही होती ।

बच्चा किसीके भी पास मजैसे  से रहता है उसे सब अपने ही लगते है वह सिर्फ मां को नही चिपकता ।

बोतल से दूध

नुकसान :

जैसे कि हमने पहले ही मेंशन किया है कि बच्चे को स्तनपान ही मुख्य आहार  है  कम से कम 3 माह तक तो बेबी को स्तनपान विशेष रूप से कराए , स्तनपान करने वाले बच्चों के मुकाबले बोतल का दूध पीने वाले बच्चो में immunity power ज्यादा नही होती । वह सिर्फ मोटे दिखते है उनमे ज्यादा ताकद नही होती

बोतल का दूध पीने वाले बच्चो मे कब्ज की समस्या ज्यादा दिखाई देती है ।

बहोत सावधानी या बरतनी बढ़ती है । गई को दूध पीता हो तो हल्का गर्म करो बाद म गुनगुना होने दो फिर पिलाओ, डिब्बे का दूध है तो बनाया दूध एक बार ही  use होगा ।

नेक्स्ट टाइम फिर से बनाओ तथा बोतल को हर बार धो , बचा हुआ दूध फेक दो ,  बोतल के निप्पल को निरजंतुक करो नही तो इन्फेक्शन होगा बेबी में । बहोत सारे  काम रहते है ।

दूध पीने के बाद भी बच्चा रोए तो चुप कराने में प्रोब्लेम हो जाती है । माँ का दूध पीता हो तो स्तन को लगाने के बाद चुप जाते है ।

धन्यवाद ,

 

 

 

 

 

 

Share

error: Content is protected !!