मोबाइल से दुर बच्चो को कैसे रखे ।

आएदिन मोबाइल की एहमियत हर एक व्यक्ती के जीवन मे बढ रही है । मोबाइल ( Smartphone )उनके लिए दुनिया से जुडने का और सामने दिख रहे व्यक्ती से दुर रहने का असरदार उपाय है। इसके परिणाम स्वरूप उनके बच्चो पर भी ये असर हो रहा है। सहजता से देखे तो माँ _बाप ही बच्चो के लिए आदश॔ है। वही मोबाइल पर  जादा रहते है तो मोबाइल से दुर बच्चो को कैसे ले जा सकते है । इसिलिए आप ही जादा मोबाइल से दुर रहे और ऐसा संभव ना हो तो उपाय निचे देखेंगे । मोबाइल से दुर बच्चो को ले जाना थोडा मुस्कील है , पर हमारे प्रयासो से ये संभव है।

मोबाइल से दुर बच्चो को

मोबाइल से दुर बच्चो को ले जाना जरूरी है, एक तो ओ इलेक्ट्रानिक वस्तु है उससे रेडिएशनस् निकलते है और बच्चो की नाजुक आँखो के लिए ओ हानिकारक है।

मोबाइल से बच्चो मे होशीयारी बढती है ये कहने और सुनने मै अच्छा लगता है  वास्तव मे यह सही तरीका है बच्चो को होशियार करने का ? तो उनकी उम्र नही ये चीजे संभालने की , ऐसा नही की smartphone से कुछ अच्छा सिखने को नही मिलता  ।  हा ये सही है की आप बच्चो को मोबाइल देखने दो क्योंकी  दुनियाँ की रेस मे हमारा बच्चा टिकना ही चाहिए ।पर उनको उसकी आदत मत डालो । क्योंकी  उनकी physical और mental grouthके लिए ये हानिकारक है।

मोबाइल से दुर बच्चो  रखने के उपाय :

बच्चो मे  outdoor games की रूची बढाए। इससे उनके freind भी बढेंगे, और उनका वक्त भी जाएगा।

बच्चो को other activities course लगवाए या घरपर ही ऐ सब करने के लिए उन्हे प्रेरित करे जैसे की , तैरना, डांस, ड्राइंग, काॅमिक्स पढना, चेस खेलना आदी।

अगर आपका बच्चा बहोत ही छोटा है तो simple मोबाइल का Data off करके रखे जिससे उसको youtubeपर जानेका रास्ता भी मालुम है तो भी ओ नही देख सकेंगे।मोबाइल मे games न डाले इससे ओ मोबाइल से उब जाएगे और खुद से आकर आपके हात मे मोबाइल थमा देंगे । कभी rymes आदी दिखाओ  तो पापा का मोबाइल है , आंटी का मोबाइल है ऐसा बोलने का , हमारा मोबाइल खराब हो गया है , उसपे दिखता नही ऐसा बोलने का  । झुट बोलना अच्छी आदत नही है , पर बच्चे के  भविष्य के लिए अच्छा है।

मोबाइल मे lock की system को उज करे।

मोबाइल देखने का समय तय करे। मोबाइल मे क्या क्या देख रहे है इसपर नजर रखे । नही तो account History देखे ,उनको  एहसास दिलाए हमारी नजर उनपर है। इससे वह कुछ गलत देखने पर परहेज करेंगे।

मोबाइल देखने की जिद करने पर उनका ध्यान बटाये, घुमाने ले जाय , आप उनके साथ खेले, घर के छोटे छोटे कामो मे उन्हे व्यस्त करे जिससे उनका ध्यान भी बटेगा और कुछ अच्छी आदते भी लगेगी । उन्हे प्यार से समझाए मोबाइल देखने से होने वाले दुष्परिणामो के बारे मे बताए , डाॅक्टर से चष्मा लगवाना पडेगा  ये सब समझाए।

धन्यवाद, post अच्छी लगी तो और इसके बारे कुछ और जानकारी चाहिए हो तो जरूर comment करो।

 

error: Content is protected !!