विषाक्त भोजन क्या है । Food poisoning । - HealthUpachar

विषाक्त भोजन क्या है । Food poisoning ।

विषाक्त भोजन नाम मे ही विष है इसलिए यह भोजन शरीर के लिए हानिकारक है।  विषाक्त भोजन ग्रहण करने से पेट मे गड़बड़ी होती है ,तथा इससे कोई गंभीर या बेहद हानिकारक रोग या नुकसान नही होता है । पर कुछ हद तक बारिश के दिनोंमें यह बहोत से संक्रामक बीमारियों का कारण बन सकता है । इसे food poisoning भी कहते है।  चलिए तो हम देखे विषाक्त भोजन क्या है ।

विषाक्त भोजन

विषाक्त भोजन :

साधारण भोजन में किसी परजीवी सूक्मजीव का संक्रमण होने से अन्न संदूषित होता है ,इस संदूषित अन्न को ग्रहण करने से वह विषाक्त भोजन कहलाता है। यह परजीवी सूक्मजीव साल्मोनेला, norovirus, ईकोलाई ,एंटमुबा आदी है ।

तथा इसके ग्रहण से उल्टी ,जुलाब, जी मचलना ,बुखार ,टाइफाइड, dairiya आदि होना संभव है ।

लक्षण :

जी मचलना , मितली

उल्टी , पेट दर्द , पेट मे मरोड़ आना,

दस्त , स्लेम के साथ पतले दस्त ,

बुखार आदि ।

कारण :

विषाक्त आहार का ग्रहण करने से  ।

 

विषाक्त भोजन

विषाक्त आहार कैसे बनता है :

खाना बनाते समय साफ सफाई न हो :

रसोई में सफाई न होने से कई तरह के जीवाणु अन्न संदूषित करते है । गंदगी विषाक्त ता को बढ़ावा देती है ।

संतुलित आहार

गन्दे बर्तनोसे :

गंदे बर्तन या दूषित पानी से साफ किए गए बर्तन पूरी तरह साफ नही होते  तथा उसमे परोसे गए भोजन को भी दूषित करते है ।

खाना पकाने वाली व्यक्ति व्यक्तिगत रूप से अस्वछ  हो :

रसोई बनाने वाली व्यक्ति स्वच्छ  न होने पर भी भोजन में संदुशन बढ़ता है जैसे कि :उसने नाखून बढ़ाये हो , बालो को पूरी तरह से कवर न किया हो , या वह किसी संक्रामक बीमारी से संक्रमित हो  जैसे सर्दी ,खासी, या खुजली आदि सेे।

सब्जियां ,फल अच्छे से न धोए हो तब :

बाजार से लायी सब्जिया तथा फल अच्छे से साफ कर इस्तेमाल करे। या फिर आप डायरेक्ट खेत से भी लाते हो तब भी अच्छे पानी से साफ करे बाद में use करे क्योंकि मिट्टी में बहोत से बैक्टेरिया होते है। तथा उनपर ओषधियाँ भी छिड़काई जाती है ।

मांस कटे चकला पर बहोत देर बाद बिना चकला धोए सब्जिया काटने पर भी जीवाणु फैलते है ।

अधपके मांस , मच्छी, अंडे,तथा सब्जियां इनसे भी भोजन में विषाक्त ता बढ़ती है ।

डायरिया या किसी अन्य संक्रामक रोगी द्वाराआहार को छूने से या ।जो खुद व्यक्तिगत रूप से सफाई न रखता हो।

बासी भोजन से या फ्रिज में भोजन सही सेट से न करने के कारण , या फ्रिज का खाना दो से अधिक बार गर्म करने से ।

 मछिया ,क्रोक्रोज :

मछिया, क्रोक्रोज , छिपकली ,चूहा आदि द्वारा दूषित पदार्थो से भी food posioning हो सकती है

पानी :

यह भी मुख्य कारण है विषाक्त भोजन का  ,गंदे या दूषित पानी का इस्तेमाल करने से भोजन सँदूषित होता है ।

 

उपाय :

हमेशा साफ सफाई बरते । किसी भी जगह का पानी न पिएं । पानी पूरी या गोलगप्पे खाते वक्त इसका ध्यान अवश्य रखे ।

खाना बनाने वाली व्यक्ति व्यक्तिगत रूप से निरोगी हो तथा वह साफ सुथरी हो उसके कपड़े भी साफ हो ।

सब्जिया , मांस काटने का चकला हमेशा धोकर इस्तेमाल करे तथा रोटियां बनाने का भी ।

एक साथ हप्ते भर की सब्जिया फ्रिज में स्टोर करके न रखे क्योंकि उनका पोषण मूल्य समाप्त होता है । ताजी सब्जियां ही इस्तेमाल करें।

उबला पानी या RO का पानी इस्तेमाल करे । तथा साधारण use करने का पानी भी साफ हो या उसपर एक बार फिटकरी घुमा ले ।

सौच के बाद हाथ अच्छे से धोएं तथा खाना खाने से पहले भी । यह आदत बच्चो को भी लगाएं ।

खाना या खाने के पदार्थ हमेशा ढककर रखें ।

 

 

 

 

 

 

 

 

Share

error: Content is protected !!